Tejas Express: मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने देश की पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस को दिखाई हरी झंडी, जाने इसके बारे में सबकुछ

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 04 अक्टूबर 2019 को देश की पहली प्राइवेट (कॉरपोरेट) ट्रेन तेजस एक्सप्रेस (Tejas Express) को हरी झंडी दिखाकर लखनऊ जंक्शन से रवाना किया. यह देश की पहली प्राइवेट ट्रेन है. इसका संचालन पूर्ण रूप से आईआरसीटीसी (इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन) करेगी.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तेजस एक्सप्रेस को झंडी दिखाने से पहले दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया. मुख्यमंत्री ने ट्रेन का निरीक्षण भी किया. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस मौके पर तेजस में सफर करने वाले पहले यात्रियों को बधाई दी. यह ट्रेन कानपुर एवं गाजियाबाद में रूकते हुए नई दिल्ली पहुंचेगी.

ट्रेन नियमित रूप से छह अक्टूबर से चलनी शुरू होगी

तेजस एक्सप्रेस ट्रेन की संख्या 00501 है. यह ट्रेन कानपुर और गाजियाबाद से होते हुए नई दिल्ली तक जायेगी. यह ट्रेन नियमित रूप से 06 अक्टूबर से चलनी शुरू होगी.

तेजस ट्रेन की खासियत

आईआरसीटीसी तेजस एक्सप्रेस के संचालन हेतु कर्मचारियों को यात्रियों से सम्मान से पेश आने की ट्रेनिंग दी गई है. आईआरसीटीसी कर्मचारियों को यात्रियों के प्रत्येक सवाल का जवाब मुस्कान के साथ देने पर जोर दिया गया.

विमान की तरह ट्रेन में भी व्यक्तिगत एलसीडी स्क्रीन, वाई-फाई सेवा, आरामदायक सीटें, मोबाइल चार्जिंग, मोड्यूलर बायो-टॉयलेट तथा सेंसर टेप फिटिंग की सुविधाएं है.

तेजस ट्रेन के दरवाजों पर सेंसर लगे हुए हैं, जिससे की दरवाजे अपने आप खुलेंगे और बंद हो जाएंगे.

इसके अतिरिक्त सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए प्रत्येक बोगी में 6 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए है.

तेजस एक्सप्रेस आधुनिक सुविधाओं वाली माध्यम तेज गति वाली एक ट्रेन है. इसकी अधिकतम गति 160 किलोमीटर है.

तेजस एक्सप्रेस में जानेमाने शेफ द्वारा तैयार मनपसंद खाना परोसा जायेगा.

तेजस एक्सप्रेस: जाने सबकुछ

तेजस एक्सप्रेस मार्ग और समय

तेजस एक्सप्रेस मंगलवार को छोड़कर हफ्ते में 06 दिन चलेगी. यह ट्रेन लखनऊ जंक्शन से सुबह 6 बजकर 10 मिनट पर चलेगी. यह ट्रेन सुबह 7 बजकर 20 मिनट पर कानपुर पहुंचेगी और वहां से 7 बजकर 25 मिनट पर चलकर 11 बजकर 43 मिनट पर गाजियाबाद पहुंचेगी. यह ट्रेन 12 बजकर 25 मिनट पर नई दिल्ली पहुंचेगी.

यह ट्रेन नई दिल्ली से शाम 4 बजकर 30 मिनट पर रवाना होगी. यह ट्रेन गाजियाबाद शाम 5 बजकर 10 मिनट पर पहुंचेगी.  ट्रेन रात 9 बजकर 30 मिनट पर कानपुर और लखनऊ रात 10 बजकर 45 मिनट पर पहुंचेगी. कुल मिलाकर, दिल्ली से लखनऊ की दूरी पूरी करने में ट्रेन को 6 घंटे 15 मिनट का समय लगेगा.

तेजस एक्सप्रेस एक दिन नहीं चलेगी

तेजस एक्सप्रेस दिल्ली-लखनऊ दोनों ओर से मंगलवार को छोड़कर सप्ताह के प्रत्येक दिन अर्थात सोमवार, बुधवार, गुरुवार, शुक्रवार, शनिवार और रविवार को चलेगी. तेजस ट्रेन में दो तरह की बोगियां एसी चेयरकार और एग्जिक्युटिव चेयरकार हैं.

तेजस एक्सप्रेस का किराया

लखनऊ से दिल्ली का किराया: लखनऊ से नई दिल्ली की यात्रा के लिए एसी चेयर कार के लिए 1125 रुपये और एक्जीक्यूटिव चेयर कार के लिए 2310 रुपये लगेंगे.

दिल्ली से लखनऊ का किराया: नई दिल्ली से लखनऊ की यात्रा के लिए एसी चेयर कार के लिए 1,280 रुपये और एक्जीक्यूटिव चेयर कार के लिए 2,450 रुपये लगेंगे.

लखनऊ से कानपुर: लखनऊ से कानपुर जाने वाले यात्रियों का टिकट एसी चेयर कार के लिए 320 रुपये और एग्जीक्यूटिव चेयर कार के लिए 630 रुपये होगा.

लखनऊ से गाजियाबाद: लखनऊ से गाजियाबाद जाने वाले यात्रियों को एसी चेयर कार के लिए 1,125 रुपये का टिकट और एक्जीक्यूटिव कार के लिए 2310 रुपये का टिकट खरीदना होगा.

दिल्ली और कानपुर: दिल्ली और कानपुर के बीच यात्रा करने वाले यात्रियों का किराया एसी चेयर कार के लिए 1155 रुपये और एक्जीक्यूटिव चेयर कार के लिए 2155 रुपये होगा.

25 लाख का निःशुल्क बीमा

आईआरसीटीसी की इस पहली ट्रेन के यात्रियों को 25 लाख रुपए का नि:शुल्क बीमा भी दिया जायेगा. इस ट्रेन में यात्रा के दौरान लूटपाट या सामान चोरी होने पर एक लाख रुपए के मुआवजा की व्यवस्था है.

मुआवजा की भी व्यवस्था

तेजस एक्सप्रेस (दिल्ली-लखनऊ) के यात्रियों को ट्रेन के विलंब होने पर मुआवजा दिया जायेगा. यह जानकारी आईआरसीटीसी ने दी. ट्रेन को एक घंटे से अधिक का विलंब होने पर 100 रुपये की राशि दी जाएगी, जबकि दो घंटे से अधिक की देरी होने पर 250 रुपये का मुआवजा दिया जायेगा.

यह भी पढ़ें: IRCTC IPO को 112 गुना सब्सक्राइब किया गया

करेंट अफेयर्स ऐप से करें कॉम्पिटिटिव एग्जाम की तैयारी,अभी डाउनलोड करें| Android|IOS

Leave a Comment